यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है – UPSC Full Form in Hindi

नमस्कार दोस्तो । स्वागत है आपका आज के इस पोस्ट में । आज के इस पोस्ट में मैं आपको UPSC Kya Hai और UPSC Full-Form In Hindi, UPSC के कार्य क्या-क्या है और UPSC किस तरह के परीक्षा आयोजित करता है और UPSC की स्थापना कब हुआ था आदि विषय के बारे में आपको details में बताऊंगा । इसीलिए दोस्तो आप इस पोस्ट को अंतिम तक पढ़ते रहिए ।

यूपीएससी (UPSC) के पूरा रूप Union Public Service Commission है और UPSC Full Form हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग होता है । UPSC द्वारा अखिल भारती सेवाओ, केंद्रीय सेवाओ, संबर्गो के साथ भारतीय संघ के सशत्र बालों के भर्ती प्रक्रिया आयोजित किया जाता है । UPSC राष्ट्रीय स्तर के परीक्षा आयोजित करती है जो केंद्र सरकार और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओ के पदों के लिए कर्मचारी भर्ती के लिए जिम्मेदार है । भारत के सबसे कठिन परीक्षा में से एक परीक्षा यूपीएससी परीक्षा भी एक है ।

यूपीएससी क्या है – UPSC Kya Hai

UPSC Level A ओर level B कर्मचारियों के भर्ती के लिए एक स्वतंत्र संगठन है जिसकी पूरा नाम संघ लोक सेवा आयोग है और इसकी की स्थापना 1 Oct 1926 में हुई थी । इसका ऑफिशियल वेबसाइट https://www.upsc.gov.in/ है और आप यूपीएससी द्वारा खोली गई वेकैंसी के बारे में अधिक जानकारी के लिए visit भी कर सकते है ।

यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है – UPSC Full Form in Hindi

UPSC का फुल फॉर्म Union Public Service Commission है । यूपीएससी के फुल फॉर्म हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग होता है । यूपीएससी द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS) और भारतीय राजस्व सेवा (IRS), भारतीय विदेश सेवा (IFS) पदों के लिए परीक्षा आयोजित किया जाता है और साथ-साथ में अन्य सिविल सेवा के पद पूर्ति के लिए भी परीक्षा आयोजित किया जाता है । UPSC द्वारा Level A और Level B officers की विभिन्न क्षेत्रों में भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन करता है । UPSC हर साल सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है । यूपीएससी केंद्र और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओं के लिए एक राष्ट्रीय स्तर (नेशनल लेवल) की परीक्षा आयोजित करता है।

यूपीएससी के कार्य – Functions of UPSC in Hindi

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 320 के तहत अन्‍य क्षेत्रों के पदो के साथ-साथ सिविल सेवाओं तथा पदों के लिए भर्ती संबंधी सभी जिम्मेदारियां यूपीएससी आयोग के पास है । अर्थात किसी भी मामले में कर्मचारियों के लिए भर्ती खोलने के लिए इस आयोग का परामर्श लिया जाना अनिवार्य होता है. संविधान के अनुच्छेद 320 ने UPSC के कार्य के बारे में  वर्णन किया गया है जिसके तहत यूपीएससी अपनी कार्य के अंजाम देती है ।

  • राष्ट्रीय स्तर के सेवाओं में नियुक्‍ति हेतु परीक्षा आयोजित करना,
  • इंटरव्यू द्वारा चयन से सीधी भर्ती पदोन्नति/ प्रतिनियुक्‍ति/ आमेलन द्वारा अधिकारियों की नियुक्‍ती,
  • सरकार के अधीन विभिन्‍न सेवाओं तथा पदों के लिए भर्ती नियम तैयार करना और उनमें संशोधन,
  • विभिन्‍न सिविल सेवाओं से संबंधित अनुशासनिक मामले,
  • भारत के राष्‍ट्रपति द्वारा आयोग को प्रेषित किसी भी मामले में सरकार को आवश्यक परामर्श देना।

UPSC द्वारा आयोजित कुछ किया जानेवाला परीक्षाएँ इस प्रकार हैं: –

  • Indian Forest Service examination
  • Combined Defence Services Examination
  • Engineering Services Examination
  • National Defence Academy Examination
  • Naval Academy Examination
  • Combined Medical Services Examination
  • Special Class Railway Apprentice
  • Indian Economic Service/Indian
  • Statistical Service Examination
  • Combined Geoscientist and
  • Geologist Examination
  • Central Armed Police Forces (Assistant Commandant)

UPSC Exam Patterns

UPSC Exam के तीन चरण होता है अर्थात जो व्यक्ति UPSC Exam पास करके उच्च तहके पदो पे सरकारी नौकरी पाना चाहता है उसे तीन चरण के परीक्षा के सामना करना पड़ता है । UPSC द्वारा आयोजित परीक्षा भारत के सबसे बड़ा परीक्षा होता है जिसे IAS Exam के नाम से भी जाना जाता है । UPSC Exam के वो तीन चरणों इस प्रकार से है:-

1. Preliminary Exam (प्रारंभिक परीक्षा)
2. Main Exam (मुख्य परीक्षा)
3. Interview (साक्षात्कार)

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

UPSC CSE Exam के सब से प्रथम चरण Preliminary Exam है । इस परीक्षा में 200-200 नंबर के दो पेपर होता है जिसमे सिर्फ Objectives Questions और Multiple Choice Question होते है । इस exam के प्रभाव आपके final exam के रैंकिंग पर नही पड़ता है । दूसरे चरण के परीक्षा में सहभागी होने के लिए इस परीक्षा को पास करना जरूरी है । इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको 33% मार्क्स जरूरी पड़ता है लेकिन आपको ध्यान देने वाली बात ये है कि इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी होती है । अगर आपका एक प्रश्न गलत होता है तो 1/3 के हिसाब से नेगेटिव मार्किंग होता है ।

मुख्य परीक्षा (Main Exam)

UPSC द्वारा आयोजित किए हुवे preliminary exam पास करने के बाद आप Main Exam के लिए क्वालीफाई हो जाते है । Main Exam में कुल 9 पेपर होता है । कुल 9 पेपर में से सुरु के 7 पेपर के मार्क्स फाइनल परीक्षा के रैंकिंग में कोई असर नहीं करता है लेकिन बाकी के 2 पेपर में आपको न्यूनतम मार्क्स प्राप्त करना बहुत ही जरूरी होती है । UPSC द्वारा आयोजित Main Exam परीक्षा 5-7 दिनों की अवधि में आयोजित की जाती है । Main Exam के किसिम subjective होती है ।

साक्षात्कार (Interview)

Preliminary और Main Exam पास करने के बाद आप इंटरव्यू के लिए योग्य होजाते है । साक्षात्कार (Interview) यूपीएससी परीक्षा का अंतिम चरण होता है । इन्टरव्यू में आपसे General Knowledge और संबंधित विषयों से Question पूछा जाता है । इन्टरव्यू में आपका मानसिक परीक्षण होता है और यह परीक्षा सबसे महत्वपूर्ण परीक्षा होता है क्युकी इस परीक्षा को पास करने के बाद आपकी नौकरी पक्का हो जाता है।

अंतिम शब्द – UPSC Full Form in Hindi

मै आशा करता हूं की आज की इस पोस्ट में UPSC Ka FulL Form Kya Hai, UPSC Full Form in Hindi और इसकी स्थापना कब हुई थी और UPSC के कार्य क्या है और UPSC द्वार आयोजित किया जाने वाला परीक्षा की patterns क्या है आदि विषय के बारे में अच्छी जानकारी मिली होगी । यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपको दिल से धन्यवाद । अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो आप अपनी दूसरे दोस्तो को जरूर शेयर करे । अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो कमेंट करके जरूर बताएं ।

ये भी पढ़े : RAM Full Form in Hindi – RAM Ka Full Form Kya Hai

6 thoughts on “यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है – UPSC Full Form in Hindi”

  1. Very good article and detailed information. Thank you for providing us such a beautiful information on UPSC Full Form in Hindi.

    Reply
  2. भाई आपने यूपीएससी क्या है इसके बहुत अच्छे से बताए है । हमे ऐसे महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद । ऐसे ही जानकारी देते रहिएगा और हमे नए नए चीजों को बारे में सीखते रहिएगा ।

    Reply

Leave a Comment

error: