IAS का फुल फॉर्म क्या है – IAS Full Form in Hindi

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का स्वगात है आज के इस नया पोस्ट आईएएस का फुल फॉर्म क्या है (IAS Full Form in Hindi), आज के समय मे पढ़ाई का स्तर बढ़ता जा रहा है इसके साथ ही कॉम्पिटिशन बहुत ज्यादा बढ़ रहा है क्योकि आज के समय मे सभी लोग आईएएस, डॉक्टर व इंजीनियर बनाना चाहते है, ऐसे में कॉम्पिटिशन का लेवल बहुत ज्यादा बढ़ गया है, यदि आप भी सपना देख रहे है कि आपको आईएएस बना है तब हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से आईएएस के बारे में विस्तार से बतायेंगे कि आखिर IAS ka Full form क्या होता है और आईएएस बनने के लिए क्या करना होता है, तथा IAS आप कब बन सकते है, तो चलिए दोस्तो हम आईएएस के बारे में जानते है

IAS का फुल फॉर्म क्या है

IAS का फुल फॉर्म Indian Administration Service होता है जिसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहा जाता है। IAS की तुलना फ्रांस के प्रिफेट से किया जाता है। वर्तमान में आईएएस भारत की सबसे ऊंचे एवं रेस्पेक्टेड पदों में से एक है तथा भारत में आईएएस की नौकरी प्राप्त करना लाखों स्टूडेंट्स की चाहत व सपना होता है। यदि कोई आईएएस बनाना चाहता है तब उसके लिए यूपीएससी (सिविल सर्विसेज) एग्जाम क्लियर करना होता है, तथा यदि आपका यूपीएससी में सबसे अच्छा रैंक आता है तभी आप आईएएस बन सकते है। जब आईएएस अधिकारी बनते है तब उनको कुछ वर्ष की सेवा के लिए जिले में जिला मजिस्ट्रेट या कलेक्टर के रूप में नियुक्त किया जाता है तथा आम जनता के लिए जो कानून बनाया जाता है, उसमें आईएएस ऑफिसर्स डायरेक्टली इंवॉल्व रहता है और उन कानून को जमीनी स्तर में जिले में लागू करवाने की जिम्मेदारी भी आईएएस ऑफिसर का होता है।

आईएएस का इतिहास (History of IAS)

आईएएस का इतिहास बहुत ही पुराना है, तथा इसकी शुरुआत 1858 में भारत के तत्कालीन वाइसराय लार्ड केनिंग के कार्यकाल के दौरना इम्पीरियल सिविल सर्विस के रूप में किया गया था। भारत जब 1947 मद आजाद हुआ उसके बाद इसे1950 से इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज (आईएएस) कहा जाने लगा। वर्तमान समय मे 4926 आईएएस अधिकारी भारत मे है जिसमें से यूनियन पब्लिक सर्विसेज कमीशन से चुनकर 3511 लोग आए है तथा राज्य सेवा आयोग से प्रोमोशन होकर 1415 लोग आईएएस बने है। आईएएस का ट्रेनिंग सेंटर मसूरी उत्तराखंड में है जिसका नाम भारत के पूर्व प्रधानमंत्री के नाम पर ‘ लालबहादुर शास्त्री नेशनल अकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन’ है।

आईएएस बनने के लिए पात्रता (Eligible for IAS)

यदि आप वर्तमान समय मे आईएएस अधिकारी बनाना चाहते है तब आपके पास निम्न योग्यता होना चाहिए-

  • कोई भी भारतीय स्टूडेंट जो किसी भी विषय से मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लिया है वह आईएएस तथा अन्य 24 पोस्ट के लिए कंडक्ट किए जाने वाले यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम में अपीयर हो सकता है।
  • आवेदन करने वाले छात्र की आयु कम से कम 21 साल तथा अधिक से अधिक 32 साल होना चाहिए, तथा यहां अधिकतम आयु में अलग-अलग कैटेगरी के अनुसार 3 से 5 साल तक की छूट दिया गया है।
  • यदि छात्र जनरल कैटेगरी से बिलोंग करने वाला है तब उसे मैक्सिमम 6 बार आईएएस एग्जाम के लिए अटेम्प्ट कर सकता है। तथा वही ओबीसी के स्टूडेंट 9 बार एवं एससी एसटी स्टूडेंट्स के लिए कोई लिमिट नहीं रखा गया है।

IAS के लिए एग्जाम (Exam for IAS)

यदि आप वर्तमान समय मे IAS अधिकारी बनना चाहते है तब आपने सपना देखा होगा यदि आप IAS अधिकारी बनना चाहते है तब आपको निम्न चीजे clear करना होगा-

  1. सबसे पहले IAS अधिकारी बनने के लिए UPSC Preliminary test होता है जो कि एक दिन का रहता है इसमें दो पेपर होता है पहला पेपर GS (General Studios ) एवं दूसरा पेपर CSAT (Civil Services Aptitude Test) होता है यदि आप जनरल से है तब 2nd paper में 33% नंबर अन्यथा 23% लेकर आते है तब आपका पहला पेपर GS चेक होता है तथा आप जब 1st paper में Cut off clear करते है अपने कैटेगिरी के आधार पर फिर आप मैन्स के लिए क्वालीफाई होते है।
  2. यदि आप UPSC Pre qualify करते है फिर आप UPSC Mains के लिए योग्य होते है, तबइसमें 7 पेपर होता है, एवं 1 Eassy writing, 4 GS, व 2 Optional Subject होता है, आप इस एग्जाम में सभी सब्जेक्ट में पास हो जाते है, फिर आप मैन्स का cutoff clear करते है तब आप 3rd stage पहुँच जाते है।
  3. 3rd stage में पर्सनल टेस्ट इंटरव्यू होता है जो कि एक दिन का होता है, आप मैन्स क्वालीफाई करते है और इंटरव्यू देते है फिर रिजल्ट आता है। अंतिम रिजल्ट मेरिट लिस्ट मैन्स और इंटरव्यू दोनों को मिलाकर रिजल्ट बनता है, तथा rank के आधार पर और रिज़र्वेशन के आधार पर seat alot होता है।

यह भी पढ़े : UPSC का फुल फॉर्म क्या है ?

IAS को मिलने वाली सुविधाएं

वर्तमान समय मे आईएएस की नौकरी को एक रॉयल जॉब माना जाता है, क्योंकि इस जॉब में अच्छी सैलरी के साथ बहुत सारी अच्छी सुविधाएं भी आईएएस अधिकारी को सरकार के तरफ से मिलता है, तथा किसी इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज के ऑफिसर को मिलने वाली कुछ प्रमुख सुविधाएं निम्न है-

  • निवास- नौकरानी, माली और सुरक्षा के साथ बंगला मिलता है।
  • परिवहन- ड्राइवर के साथ कार मिलता है।
  • बिल- पानी, बिजली, मोबाइल जैसे सभी बिल सरकार के तरफ से अदा किया जाता है।
  • पेंशन- सेवानिवृत्ति के बाद आजीवन 50% पेंशन मिलता है।
  • यात्राएं- भारत और विदेश में मुफ्त पारिवारिक यात्राएं साल में एक बार मिलता है।

आईएएस अधिकारी के रोल एवं दायित्व

आज के समय मे आईएएस पोस्ट हर मामले में सबसे बड़ी नौकरी होता है,, तब इसके साथ ही बहुत सारा रिस्पांसिबिलिटी भी रहता है और कुछ प्रमुख जिम्मेदारियां हैं-

  • जिला प्रशासन को संभालना रहता है।
  • सरकार के दैनिक मामलों को संभालना और लागू करना होता है।
  • अपने कार्य क्षेत्र में कानून व्यवस्था को बनाये रखना होता है।
  • कलेक्टर के रूप में सरकारी राजस्व एकत्र करना रहता है।
  • आईएएस अधिकारी को नीतियों के क्रियान्वयन के लिए धन का वितरण और पुनरावृत्ति करना होता है।
  • आईएएस अधिकारी लोगों के लिए नीति बनाते हुए सरकार को सलाह प्रदान करता है।

आज आपने क्या सीखा (IAS Full Form in Hindi)

मैं आशा करता हूं की आज की यह पोस्ट आईएएस का फुल फॉर्म क्या है (IAS Full Form in Hindi) में आपने IAS का फुल फॉर्म के साथ साथ IAS Officer बनने के बाद क्या क्या सुविधा मिलेगी और IAS Officer का दायित्व क्या है आदि विषय के बारे में जाने होंगे । हमारा यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपको धन्यवाद और मैं आशा करता हु की यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी । अगर आपके मन में आईएएस से संबंधित कोई प्रश्न है या आपको यह पोस्ट कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताएं ।

यह भी पढ़े : IPS का फुल फॉर्म क्या होता है ?

Leave a Comment

error: